Subscribe Us

header ads

Bhukh badhane ki ayurvedic dawa | भूख बढ़ने की आयुर्वेदिक दवा

Bhukh badhane ki ayurvedic dawa

हरे धनिए में हरी मिर्च, टमाटर, अदरक, हरा पुदीना, जीरा, हींग, नमक और काला नमक डालकर बनाई गई चटनी खाने से भी तेज भूख लगती है। भोजन करने के बाद थोड़ा सा अनारदाना या उसके बीज के चूर्ण में काला नमक एवं थोड़ी सी मिश्री पीसकर पानी के साथ एक चम्मच खाने से भूख बढ़ती है।

एक गिलास छाछ में काला नमक, सादा नमक, पीसा जीरा मिलाकर पीने से पाचन-क्रिया तेज होकर अरुचि दूर होती है।

भोजन करने के बाद वज्रासन में कुछ देर बैठना भी बेहद लाभदायक होता है। इससे भोजन पचने में आसानी होती है व गैस की समस्या से निजात मिलती है। रात में सोते समय आधा चम्मच त्रिफला चूर्ण गुनगुने पानी के साथ लेने से सुबह पेट साफ हो जाता है और भूख खुलकर लगती है।

खाना खाने के बाद अजवाइन का चूर्ण थोड़े से गुड़ के साथ खाकर गुनगुना पानी पीने से भोजन आसानी से पच जाता है व नियत समय पर भूख लगती है और खाने में रुचि पैदा होती है।

भोजन के बाद एक चम्मच हिंग्वष्टक चूर्ण खाने से पाचन-क्रिया ठीक होती है व भूख लगती है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां