Subscribe Us

header ads

Budhapa kaise dur kare | बुढ़ापा कैसे दूर करे

Budhapa kaise dur kare


उम्र बढ़ने के साथ ही त्वचा पर झुर्रियां, रिंकल्स और निशान पड़ने लगते हैं। त्वचा से जुड़ी इन सभी परेशानियों के लिए सबसे बेस्ट एंटी-ऑक्सीडेंट्स युक्त खुराक है। इसे खुराक में शामिल करने से बढ़ती उम्र मानो थम सी जाएगी।

मेवे खाने से दिल के रोग आधे से भी कम हो जाते हैं। मेवे में पाएं जानेवालें एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन और कई तरह के पोषक तत्त्व शरीर के साथ-साथ मस्तिष्क को भी तारोताजा रखते हैं। इसके सेवन से मूड अच्छा रहता है।

चॉकलेट उच्च रक्तचाप में होनेवाली दिक्कतों जैसे डायबिटीज, किडनी और पागलपन के खतरे को कम करती है। चॉकलेट में मूड ठीक करने और तनाव दूर करने के गुण पाए जाते हैं।

चॉकलेट खाने से मानसिक रोगों में लाभ होता है। चॉकलेट में कॉपर और पोटेशियम पाया जाता है, इसीलिए यह दिल से जुड़ी बीमारियों को दूर रखती हैं।

चॉकलेट रक्त संचरण को बेहतर बनाती है। साथ ही, इसके नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल भी हमेशा नियंत्रण में रहता है।

चॉकलेट खाने से रक्तप्रेशर हमेशा नियंत्रण में रहता है। चॉकलेट को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में हफ्ते में दो या तीन बार खाने से रक्तप्रेशर को नियंत्रण करने में सहायता मिलती है।

बढ़ती उम्र को रोकने और खूबसूरत दिखने के लिए खाने में रोज दही खाएं।

दही में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा होती है जो हड्डियों को मजबूत रखती है और फायदेमंद बैक्टीरिया होते हैं, जो स्वास्थ्य और शरीर में होनेवाली दिक्कतों से बचाने में मददकरते हैं। मोटापा कम करने के लिए भी दही मददकरता है।

दही में हृदय रोग, उच्च रक्तचाप और गुर्दो की बीमारियों को रोकने की अद्भुत क्षमता है। यह रक्त में कोलेस्ट्रोल को बढ़ने से रोकता है, जिससे दिल की धड़कन सही रहती है। दही से दांत और नाखून भी मजबूत रहते हैं।

मछली खाएं। मछली में ओमेगा-3 फैट होता है जो बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को कमकरता है और दिल की बीमारियों से बचाता है।

जो लोग रोज एक मुट्ठी ब्लूबेरी खाते हैं, उन्हें दिल की बीमारी कम होती है। ब्लूबेरी में पाया जानेवाला बायो-एक्टिव पदार्थ एंथोकायनिंस हाइपरटेंशन से बचाता है। इस फल में विटामिन और प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है।

स्वस्थ और खूबसूरत त्वचा के लिए रोज ब्लूबेरी खाएं। इसके इलावा यह नर्क्स सिस्टम के लिए काफी फायदेमंद होता है। रोज ब्लूबेरी खाने से दिमाग तेज होता है और मेमोरी बढ़ती है। इसका जूस बनाकर भी पी सकते हैं। यह रक्त शुगर को भी नियंत्रण में रखती है।

दिल की बीमारी और कैंसर से बचने के लिए खाने में जैतून के तेल का उपयोग करें। इस ऑयल में एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो त्वचा को जवां और दिल को मजबूत रखते हैं। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है, वैसे ही शरीर में बीमारियां होने लगती हैं। ऐसे में जैतून का तेल काफी फायदेमंद है।
थोड़ा सा जैतून का तेल अपने हाथों में लें और उन्हें रूखे और बेजान बालों पर लगाएं, इससे बाल सिल्की हो जाएंगे और अगर डेंड्रफ की समस्या है तो वो भी कम हो जाएगी।

चेहरे को सादे पानी से अच्छी तरह से धो लें। अब जैतून के तेल से मालिश करें। इसके बाद आधा चम्मच चीनी लेकर चेहरे पर रगड़े। अंत में गुनगुने पानी में एक मुलायम कपड़ा भिगोकर चेहरे को पोंछ लें। कुछ दिनों तक ऐसा करने से चेहरा निखर उठता है।

रूखे, बेजान, फटे होंठों पर जैतून के तेल की हल्की मालिश सुबह शाम करें, इससे होंठ कोमल हो जाएंगे।

करीब आधे घंटे के लिए जैतून के तेल में नाखूनों को डुबोकर रखें। इससे नाखून और क्यूटिकल्स नरम और लचीले हो जाएंगे। यह किसी भी क्रीम से बेहतर कामकरेगा।

पैरों को साफकरके उन पर जैतून का तेल लगाएं और सूती मोजे पहनकर सो जाएं। पेडीक्योर की जरूरत नहीं पड़ेगी।

जो लोग मेवे खाना पसंदकरते हैं, वे दूसरों की तुलना में ज्यादा जीते हैं। मेवे में अनसैचुरेटेड फैट होता है। इनमें विटामिन, मिनरल और एंटी-ऑक्सीडेंट्स भी होते हैं, जिससे इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है। मेवा पौष्टिक होने के साथ-साथ प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर के अच्छा स्रोत है। इनमें विटामिन ई,फॉलिक एसिड, बी-कॉम्पलेक्स, मैग्नेशियम, कॉपरए जिंक आदि की भी मात्रा मौजूद रहती है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां