Subscribe Us

header ads

jodo ka dard ayurvedic upay | जोड़ो का दर्द आयुर्वेदिक उपाय

jodo ka dard ayurvedic  upay

दालचीनी की छाल का चूर्ण तैयारकर एक कप पानी के साथ लगभग 2 ग्राम चूर्ण मिलाकर प्रतिदिन सुबह खाने के बाद लिया जाए तो जोड़ दर्द में तेजी से आराम मिलता है।

बरसात के दिनों में इंद्रायण के फलों को एकत्र किया जाए और इसे नमक और अजवायन के पानी में उबालकर खाया जाए तो आर्थरायटिस में आराम मिलता है।

अनंतमूल की लगभग 1 ग्राम जड़ को एक कप पानी में हल्का-सा दूध मिलाकर चाय तैयार की जाए, और दिन में दो बार सेवन किया जाए तो दर्द में राहत मिलती है।

दूब घास, अदरक, दालचीनी और लौंग की समान मात्रा लेकर गुड़ के पानी में खौलाएं। माना जाता है कि दिन में एक बार लगातार 1 माह तक लेने से जोड़ दर्द छूमंतर हो जाता है।

8-10 लहसुन की कलियों को तेल या घी के साथ फ्राईकरके खाने से पहले चबाया जाए तो जोड़ों के दर्द में तेजी से आराम मिलता है।

लहसुन की कलियों को सरसों के तेल के साथ कुचलकर गर्म किया जाए और कपूर मिलाकर जोड़ों या दर्दवाले हिस्सों पर लगाकर मालिश की जाए तो आराम मिलता है।

समुद्रशोख नामक पौधे का चूर्ण तैयार किया जाए और इस चूर्ण की करीब 1-3 ग्राम मात्रा लेकर दूध में मिलाकर लिया जाए, तो जोड़ दर्द में राहत मिलती है।

पुनर्नवा के पौधे, आमा हल्दी और अदरक की समान मात्रा को कुचलकर पानी में उबाला जाए और काढ़ा तैयारकर पिया जाए तो बदन दर्द और जोड़ के दर्द में आराम मिलता है।

अकोना या मदार की ताजा पत्तियों पर सरसों का तेल लेपकर तवे पर हल्का गर्म किया जाए और जोड़ दर्दवाले हिस्सों पर लगाया जाए तो दर्द में राहत मिलती है।

पारिजात की 6-7 ताजी पत्तियों को अदरक के रस साथ कुचलकर शहद मिलाकर सेवन किया जाए तो बदन दर्द और जोड़ दर्द में काफी आराम मिलता है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां