Subscribe Us

header ads

Malaria se bachne ke upay | मलेरिया से बचने के उपाय

Malaria se bachne ke upay

नीम तेल में नारियल या सरसों का तेल मिलाकर शरीर पर मालिश करने से मच्छरों के कारण उत्पन्न मलेरिया का बुखार उतर जाता है।

गिलोय के काढ़े या रस में शहद मिलाकर 40 से 70 मिलीलीटर की मात्रा में नियमित सेवन करने से मलेरिया में लाभ होता है।

लगभग 40 ग्राम गिलोय को कुचलकर मिट्टी के बर्तन में पानी मिलाकर रात

भर ढककर रख दें। सुबह इसे मसलकर छानकर रोगी को अस्सी ग्राम मात्रा दिन में तीन बार पीने से बुखार दूर हो जाता है।

अमरुद का सेवन मलेरिया में लाभप्रद होता है। यदि मलेरिया हो जाए तो रोज दिन में तीन बार अमरूद अवश्य खाएं।

मलेरिया के उपचार के लिए 10 ग्राम तुलसी के पत्ते और 7-8 मिर्च को पानी में पीसकर सुबह और शाम लेने से बुखार ठीक हो जाता है। इसमें शहद भी मिला सकते हैं। अनेक गुणों के साथ ही तुलसी मच्छरों को भगाने में भी मददगार साबित होती है।

थोड़ी सी अदरक लेकर उसमें 2-3 चम्मच किशमिश डालकर पानी के साथ उबालें। जब तक पानी आधा नहीं रह जाता इसे उबालते रहें। थोड़ा ठंडा होने पर इसे दिन में दो बार लें। इससे मलेरिया का बुखार कम करने में बहुत मदद मिलती है।

हरसिंगार के पत्ते का सेवन अदरक के रस के साथ शक्कर मिलाकर किया जाये तो मलेरिया में लाभ होता है।

मलेरिया में नीम के तने की छाल का काढ़ा दिन में तीन बार पिलाने से लाभ होता है। इससे बुखार में आराम मिलता है।

थोड़े से नीम के हरे पत्ते और चार कालीमिर्च एक साथ पीस लें। फिर इसे थोड़े से पानी में मिलाकर उबाल लें। इस पानी को छानकर पीने से लाभ होता है।



Source code : amazon kindle

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां