Subscribe Us

header ads

adrak ke fayde | अदरक के फ़ायदे

adrak ke fayde

अदरक के 10 मिलीलीटर रस में समान मात्रा में नीबू का रस मिलाकर पीने  से पाचन संबंधी दिक्कतें दूर हो जाती हैं।

 

सौंठ, चिरायता, नागरमोथा, गिलोय का काढ़ा बनाकर सेवनकरने से भूख बढ़ती है और बुखार में भी लाभ होता है।

 

चोट लगने पर दर्द हो तो अदरक को पीसकर गर्मकरके आधा इंच मोटा लेपकरके पट्टी बांध लें। दो घंटे के बाद पट्टी हटाकर ऊपर सरसों का तेल लगाकर सेंक करें। यह नियमित रूप से दिन में एक बारकरने से दर्द शीघ्र ही दूर हो जाता है।

 

सौंठ, नागरमोथा, अतीस, गिलोय, इन्हें समान मात्रा में लेकर पानी में उबालकर काढ़ा बनाएं। इस काढ़े को सुबह-शाम पीने पर दस्त से राहत मिलती है।

 

दो ग्राम सौंठ का चूर्ण घी के साथ या केवल सौंठ का चूर्ण गर्म पानी के साथ रोजाना सुबह-सुबह खाने से भूख बढ़ती है।

 

सौंठ, पीसकर छानकर दूध में मिश्री मिलाकर पिएं। मूत्र संबंधित समस्याएं दूर हो जाएंगी।

 

अदरक और लहसुन को बराबर मात्रा में पीसकर एक चम्मच की मात्रा में पानी से सेवन करें, अपच राहत मिलेगी।

 

पिसी हुई सौंठ एक ग्राम, जरा-सी हींग और थोड़ा सेंधा नमक मिलाकर लेने से पेट दर्द ठीक हो जाता है।

 

एक चम्मच पिसी हुई सौंठ और सेंधा नमक मिलाकर एक गिलास गर्म पानी से लें। इससे पेट दर्द, कब्ज और अपच ठीक हो जाते हैं।

 

हिचकी ज्यादा परेशानकर रही हो तो अदरक का एक टुकड़ा मुंह में रखें, आराम मिलेगा।

 

एक चम्मच अदरक का रस लेकर गाय के एक पाव ताजे दूध में मिलाकर पीने से हिचकी में लाभ होता है।

 

एक कप दूध को उबालकर उसमें आधा चम्मच सौंठ का चूर्ण डाल लें। ठंडाकरके पिएं, हिचकी बंद हो जाएगी।

 

सौंठ और उड़द उबालकर उनका पानी पिएं। इससे लकवा भी ठीक हो जाता है।

 

दांतों में तेज दर्द होने पर अदरक के टुकड़े को छीलकर दर्दवाले दांत के नीचे दबाकर रखें।

 

घी में 100 ग्राम उड़द की दाल भूनकर इसकी आधी मात्रा में गुड़ और सौंठ मिलाकर पीस लें। इसे दो चम्मच की मात्रा में दिन में 3 बार खाने से पक्षाघात के रोगियों को लाभ होता है।

 

उड़द की दाल पीसकर घी में सेकें। इसमें गुड़ और सौंठ मिलाकर लड्डू बनाकर रख लें। एक लड्डू रोजाना खाएं, बल वृद्धि होगी।

 

नमक और अदरक की चटनी रोज खाने के साथ खाने से भूख बढ़ती है। अदरक का अचार खाने से भी भूख बढ़ती है।

 

अदरक और नीबू का रस बराबर मात्रा में मिला लें। इस मिश्रण में काली मिर्च का थोड़ा चूर्ण डालकर पिएं। पेट दर्द में आराम मिलेगा।

 

एक चम्मच अदरक का रस एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर कुल्ला करने से मुंह की दुर्गंध दूर हो जाती है।

 

दांत में दर्द होने पर सेंधा नमक और अदरक के रस को मिलाकर लगाएं,राहत मिलेगी।

 

सर्दी की वजह से दांत में दर्द हो तो अदरक के टुकड़े को दांतों के बीच दबाने से लाभ होता है।

 

पानी में गुड़, अदरक, नीबू का रस, अजवाइन, हल्दी को बराबर मात्रा में डालकर उबाल लें। इस काढ़े को छानकर पिएं। सर्दी-जुकाम से राहत मिलेगी। अदरक, लौंग, हींग और नमक को मिलाकर पीस लें। इसकी छोटी-छोटी गोलियां तैयार करें। दिन में 3-4 बार एक-एक गोली लें, सर्दी में आराम मिलेगा। यदि अजीर्ण परेशानकर रहा हो तो हरड़, सौंठ और सेंधा नमक का चूर्ण पानी के साथ लें। दोपहर या शाम को हल्का भोजन करें, राहत मिलेगी।


Source code : amazon kindle

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां