Subscribe Us

header ads

ajwain khane ke fayde | अजवाइन खाने के फ़ायदे

ajwain khane ke fayde

अजवायन को पीसकर नारियल तेल में मिलाकर माथे पर लगाया जाए तो सिर दर्द में आराम मिलता है ।

 

कुंदरू के फल , अजवायन , अदरक और कपूर की समान मात्रा लेकर कूटकर एक सूती कपड़े में लपेटकर हल्का - हल्का गर्मकरके सूजनवाले भागों पर धीमे - धीमे सिंकाई की जाए तो सूजन खत्म हो जाती है ।

 

जिन्हें रात में अधिक खांसी होती हो , उन्हें पान में अजवायन डालकर खाना चाहिए । अदरक के रस में थोडा सा अजवायन का चूर्ण मिलाकर लेने से खांसी में तुरंत आराम मिल जाता है ।

 

तेज एसिडिटी होने पर आधा चम्मच जीरा और आधा चम्मच अजवाइन चबाने से तेजी से आराम मिलता है । ऐसा हर चार घंटे के अंतराल से किया जाना चाहिए ।

 

पान के पत्ते के साथ अजवायन के दानों को चबाने से गैस , पेट में मरोड़ और एसिडिटी से निजात मिल जाती है ।

 

भुनी अजवायन कीकरीब 1 ग्राम मात्रा को पान में डालकर चबाया जाए तो बदहजमी में तुरंत आराम मिलता है ।

 

पेट दर्द होने पर 10 ग्राम अजवायन , 5 ग्राम सोंठ और 2 ग्राम काले नमक को अच्छी तरह मिलाकर पानी के साथ 3 ग्राम चूर्ण दिन में 4-5 बार दिया जाए तो आराम मिलता है ।

 

अस्थमा के रोगी को अजवायन के दाने और लौंग की समान मात्रा का 5 ग्राम चूर्ण प्रतिदिन दिया जाए तो काफी फायदा होता है । अजवायन को किसी मिट्टी के बर्तन में जलाकर उसका धुआं भी दिया जाए तो अस्थमा के रोगी को सांस लेने में राहत मिलती है ।

 

अजवायन के दानों को भूनकर एक सूती कपड़े मे लपेट लिया जाए और रात में तकिये के नजदीक रखा जाए दमा , सर्दी और खांसी के रोगियों को रात को नींद में सांस लेने में तकलीफ नहीं होती है ।

 

अस्थमा के रोगी को यदि अजवायन के बीज और लौंग की समान मात्रा का 5 ग्राम चूर्ण प्रतिदिन दिया जाए तो काफी फायदा होता है । अजवायन को किसी मिट्टी के बर्तन में जलाकर उसका धुआं भी दिया जाए तो अस्थमा के रोगी को सांस लेने में राहत मिलती है ।


Source code : amazon kindle

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां