Subscribe Us

header ads

elaichi ke fayde | इलाइची के फ़ायदे

elaichi ke fayde

इलायची में आयरन, राइबोफ्लेविन, विटामिन सी और नियासिन पाया जाता है। ये रेड रक्त सेल्स के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इलायची जुकाम और जोड़ों के दर्द में राहत देती है।

 

इलायची पोटेशियम, कैल्शियम जैसे खनिजों से भरपूर होती है, इसीलिए यह शरीर की इलेक्ट्रोलिसिस प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इलायची दिल की गति को नियमितकरने में मदद करती है। साथ ही, यह रक्तप्रेशर को नियंत्रित करती है।

 

हार्ट को हमेशा स्वस्थ बनाए रखना चाहते हैं, तो अपने दैनिक भोजन में इलायची को शामिल करें या केवल इलायचीवाली चाय पिएं।

 

एक गिलास गर्म दूध में एक या दो चुटकी इलायची पाउडर और हल्दी मिलाएं। एनीमिया के लक्षणों और कमजोरी से राहत पाने के लिए इसे हर रात पिएं।

 

इलायची मैंगनीज का एक प्रमुख स्रोत है। मैंगनीज एंजाइम्स के स्राव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह फ्री रैडिकल्स को नष्टकरती है। इसके अलावा, इलायची में शरीर से जहरीले तत्त्व को बाहर निकालने का गुण पाया जाता है। यह कैंसररोधी का भी कामकरती है।

 

इलायची एक शक्तिशाली और उत्तेजक टॉनिक है। यह न केवल शरीर को मजबूत बनाती है, बल्कि कमजोरी और नपुंसकता को रोकने में भी मददकरती है।

 

इससे न केवल समस्या से राहत मिलती है, बल्कि अधिक देर तक ऊर्जावान भी महसूसकरते हैं। इलायची के कुछ बीजों को दूध में उबालें। एक बार अच्छी तरह से उबाल आने पर इस मिश्रण में शहद डालें। कमजोरी में राहत पाने के लिए हर रात इसका सेवन करें।

 

खाने के बाद कई लोग इलायची का उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में करते हैं। दरअसल, इलायची प्रातिक रूप से गैस को खत्मकरने का कामकरती है। यह पाचन को बढ़ाने, पेट की सूजन को कम करने व दिल की जलन को खत्मकरने का काम करती है।

 

बदहजमी की शिकायत है तो दो से तीन इलायची, अदरक का एक छोटा सा टुकड़ा, थोड़ी सी लौंग और सूखा धनिया पीस लें। इस पाउडर को गर्म पानी के साथ खाएं। पेट से जुड़ी समस्या खत्म हो जाएंगी।

 

इलायची का तेज स्वाद और भीनी सी महक सांसों की दुर्गंध दूरकरती है। यह डायजेशन को सही रखती है। खाने के बाद एक इलायची खाएं या रोज सुबह इलायची की चाय पिएं।

 

इलायची में मौजूद तेल एसिडिटी को खत्मकरता है। इलायची चवाने पर इसमें से कई तरह के तेल निकलते हैं, जो आपकी लार ग्रंथियों को उत्तेजित करते हैं। इससे पेट ठीक तरह से कार्यकरता है। भूख तेज लगती है। इलायची खाने पर इसमें मौजूद तेल ठंडक का अहसासकराता है, इसीलिए इसे चबाने से एसिडिटी से होनेवाली जलन दूर हो जाती है।

 

इलायची अस्थमा, खांसी, जुकाम और फेफड़ों से जुड़ी दूसरी बीमारियों से राहत दिलाती है। यह शरीर को अंदर से गर्म रखती है। इसके सेवन से कफ बाहर हो जाता है।

 

सर्दी, खांसी या छाती में जमाव है, तो इन परेशानियों से राहत पाने के लिए इलायची सबसे बेहतर प्रातिक उपचार है।

 

यदि ज्यादा सर्दी हो रही हो तो भाप लेते समय गर्म पानी के बर्तन में इलायची के तेल की कुछ बूंदें डालें।


Source code : amazon kindle

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां