Subscribe Us

header ads

gajar ke fayde | गाजर के फ़ायदे

gajar ke fayde

गाजर दांतों और मुंह को साफ रखती है । गाजर टूथब्रश की तरह कामकर  दांतों से फंसा खाना निकाल देती है । यह सलाइवा को दांतों में लगे गम्स को दूरकरता है । साथ ही , यह दांतों में होनेवाली बाकी परेशानियों जैसे दर्द , सूजन आदि से भी प्रोटेक्टकरता है ।

 

गाजर में भरपूर मात्रा में बेटा - कैरोटीन होता है , जिससे लिवर को विटामिन ए मिलता है । यही विटामिन ए आंखों के लिए रेटिना से रोडोप्सिन में बदलता है ।

 

यह एक बैंगनी पिगमेंट होता है जो नाइट विजन के लिए अच्छा होता है । बीटा कैरेटिन आंखों में होनेवाला मैक्युलर डिजेनेरेशन ( आंख में काला धब्बा पड़ना ) और सीनाइल कैटेरेक्ट्स ( आंखों में होनेवाली बीमारी जिसमें उम्र के साथ आंख में सफेद दाग पड़ने लगता है । ) स्टडी से पता लगा है कि बीटा - कैरोटीन लोगों में मैक्युलर डिजेनेरेशन और सीनाइल कैटेरेक्ट्स बीमारी होने का रिस्क 40 फीसदी कम होता है ।

 

स्टडी के मुताबिक , जो व्यक्ति हफ्ते में 6 या उससे ज्यादा गाजर खाता है , उसे स्ट्रोक का खतरा कम होता है । इसीलिए हर हफ्ते कम - से - कम 7 गाजर जरूर खानी चाहिए ।

 

जो लोग हड्डियों से जुड़ी बीमारी से पीड़ित हैं , उन्हें खुराक में गाजर जरूर लेनी चाहिए । इससे शरीर में कैल्शियम की मात्रा बढ़ती है और इससे मिलनेवाले कैल्शियम को शरीर जल्दी अब्जॉर्बकरता है । वहीं , अगर कॉपर , आयरन ,मैग्नीशियम , फॉस्फोरस और सल्फर वगैरह की टेबलेट लेते हैं , तो उससे बेहतर है कि गाजर खाएं ।

 

गाजर खाने से लंग कैंसर , ब्रेस्ट कैंसर और कोलोन कैंसर होने का खतरा कम होता है । गाजर में फैलकारिनॉल और फैलकैरिन्डियॉल होता है । ये एंटी - कैंसर प्रॉपर्टीज हैं , जिनसे कैंसर नहीं होता । फैलकारिनॉल एक कुदरती पेस्टिसाइड है , जिससे गाजर की जड़ों में फंगस नहीं लगती ।

 

गाजर में पाया जानेवाला बीटा - कैरोटिन एक एंटी - ऑक्सीडेंट है , जो शरीर में मेटाबॉलिज्म में बदलाव लाने की वजह से डैमेज हो रहे सेल्स को रोकता है , यानी एंटी - एजिंग प्रोसेस को धीमाकरता है । विटामिन ए और एंटी - ऑक्सीडेंट त्वचा को सन डैमेज से भी बचाते हैं । विटामिन ए की कमी से त्वचा , बालों और नाखूनों में ड्रायनेस हो सकती है । विटामिन ए रिंकल , एक्ने , ड्राय त्वचा , पिगमेंटेशन , ब्लेमिशिंग और त्वचा टोन को बैलेंसकरता है ।

 

रोजाना गाजर का जूस लेने से सर्दी और जुकाम नहीं होता । गाजर का जूस शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने का कामकरता है और इससे जर्स और इन्फेक्शन्स से बचे रहते हैं । वैसे , इसकी तासीर ठंडी होती है , लेकिन यह फिर भी सर्दी में बहुत फायदेमंद होता है । गाजर लौंग और अदरक की ही तरह छाती , गले में जमे कफ को पिघलाकर निकालने का कामकरता है ।


Source code : amazon kindle

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां