Subscribe Us

header ads

khajur khane ke fayde | खजूर खाने के फ़ायदे

khajur khane ke fayde

छुहारा यानी सूखा हुआ खजूर आमाशय को बल प्रदानकरता है। अगर पतले हैं और थोड़ा मोटा होना चाहते हैं तो छुहारा लिए वरदान साबित हो सकता है, लेकिन अगर मोटे हैं तो इसका सेवन सावधानी पूर्वक करें।

 

जुकाम से परेशान रहते हैं तो एक गिलास दूध में पांच दाने खजूर, पांच दाने काली मिर्च, एक दाना इलायची और उसे अच्छी तरह उबालकर उसमें एक चम्मच घी डालकर रात में पी लें। सर्दी-जुकाम बिल्कुल ठीक हो जाएगा।

 

दमा की शिकायत है तो दो छुहारे सुबह-शाम चबा-चबाकर खाएं। इससे कफ व सर्दी से मुक्ति मिलती है।

 

घाव है तो छुहारे की गुठली को पानी के साथ पत्थर पर घिसकर उसका लेप घाव पर लगाएं, घाव तुरंत भर जाएगा।

 

अगर शीघ्रपतन की समस्या से परेशान हैं तो तीन महीने तक छुहारे का सेवन समस्या से मुक्ति दिला देगा। इसके लिए प्रातः खाली पेट दो छुहारे टोपी समेत दो सप्ताह तक खूब चबा-चबाकर खाएं। तीसरे सप्ताह में तीन छुहारे खाएं और चौथे सप्ताह से 12वें सप्ताह तक चार-चार छुहारों का रोज सेवनकरें। इस समस्या से मुक्ति मिल जाएगी।

 

छुहारा खुश्क फलों में गिना जाता है, जिसके प्रयोग से शरीर हृष्ट-पुष्ट बनता छुहारे व खजूर दिल को शक्ति प्रदानकरते हैं। यह शरीर में रक्त वृद्धि करते है।

 

साइटिका रोग से पीड़ित लोगों को इससे विशेष लाभ होता है। खजूर के सेवन से दमा के रोगियों के फेफड़ों से बलगम आसानी से निकल जाता है।

 

लकवा और सीने के दर्द की शिकायत को दूरकरने में भी खजूर सहायताकरता है।

 

भूख बढ़ाने के लिए छुहारे का गूदा निकालकर दूध में पकाएं। उसे थोड़ी देर पकने के बाद ठंडाकरके पीस लें। यह दूध बहुत पौष्टिक होता है। इससे भूख बढ़ती है और खाना भी पच जाता है।

 

छुआरे की गुठलियों को कूटकर घी में तलकर, गोपी चंदन के साथ खाने से प्रदर रोग दूर हो जाता है।

 

छुहारे को पानी में भिगो दें । गल जाने पर इन्हें हाथ से मसल दें । इस पानी  का कुछ दिन प्रयोगकरें , शारीरिक जलन दूर होगी ।




Source code : amazon kindle

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां