Subscribe Us

header ads

long khane ke fayde | लॉन्ग खाने के फ़ायदे

long khane ke fayde

एक लौंग पीसकर गर्म पानी से फांक लें। इस तरह तीन बार लेने से सामान्य बुखार दूर हो जाएगा।

 

चार लौंग पीसकर पानी में घोलकर पिलाने से बुखार ठीक हो जाता है।

 

लौंग दमा रोगियों के लिए वरदान की तरह है। दमे से पीड़ित व्यक्ति को लौंग की पांच कलियों को 30 मिलीलीटर पानी में उबालकर काढ़ा बनाकर शहद के साथ दिन में तीन बार पिलाएं, काफी लाभ होगा।

 

गर्भवती स्त्री को यदि ज्यादा उल्टियां हो रही हों, तो लौंग का चूर्ण शहद के साथ चटाने से लाभ होता है।

 

लौंग का तेल मिश्री पर डालकर लेने से पेट दर्द में लाभ होता है।

 

लौंग आंखों व दांतों के लिए बहुत लाभदायक है। दर्द के समय एक लौंग मुंह में रख लें और उसके मुलायम होने के बाद हल्के-हल्के चवाएं तो दांत दर्द बंद हो जाएगा।

 

यदि जी मिचला रहा हो तो 2 लौंग पीसकर आधा कप पानी में मिलाकर गर्मकरके पीने से लाभ होगा।

 

लौंग का चूर्ण और हल्दी मिलाकर लगाने से नासूर मिटता है।

 

एंटी-सेप्टिक गुणों के कारण लौंग चोट, खुजली और संक्रमण में काफी उपयोगी होती है। इसका उपयोग कीटों के काटने या डंक मारने पर भी किया जाता है। इसे किसी पत्थर पर पानी के साथ पीसकर काटे गए या डंकवाले स्थान पर लगाना चाहिए, काफी लाभ होता है।

 

लौंग सेंककर मुंह में रखने से गले की सूजन और सूखे कफ का नाश होता है।

 

सिर दर्द में भी लौंग काफी कारगर है। लौंग को पीसकर सिर पर लेपकरने से दर्द में राहत मिलती है। लौंग के तेल में नमक मिलाकर सिर पर लगाने से ठंडक का अहसास होता है।

 

खाना खाने के बाद 1-1 लौंग सुबह-शाम खाने से एसिडिटी ठीक हो जाती है।

 

15 ग्राम हरे आंवले का रस, पांच पिसी हुई लौंग, एक चम्मच शहद और एक चम्मच चीनी मिलाकर रोगी को पिलाएं। इससे एसिडिटी में राहत मिलती है।

 

लौंग खुशबूदार स्वाद के लिए जानी जाती है। साथ ही इसके औषधीय गुण भी हैं। यह दांत दर्द और पेट दर्द में भी काफी फायदाकरती है।


Source code : amazon kindle

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां