Subscribe Us

header ads

muli khane ke fayde | मुली खाणे के फ़ायदे


muli khane ke fayde

मूली सूखी मूली का काढ़ा बनाकर जीरे और नमक के साथ उसका सेवन किया जाये, तो न केवल खाँसी बल्कि दमे के रोग में भी लाभ होता है।


पीलिया आदि होने पर जोकि सामान्यतः लीवर के खराब होने से होता है, मूली का सेवन विशेष लाभ देता है। हर रोज मूली खाने से शरीर की खुश्की दूर होती है।


मूली के रस में नीबू का रस समान मात्रा में मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरे की रंगत निखरती है। त्वचा के रोगों में यदि मूली के पत्तों और बीजों को एक साथ पीसकर लेपकर दिया जाये, तो यह रोग खत्म हो जाते हैं।


मूली दाँतों और हड्डयों को मजबूत करती है। थकान मिटाने और अच्छी नींद लाने में मूली का विशेष योगदान होता है। यदि पेट में कीडे़ हो गये हों, तो उनको निकालने में भी कच्ची मूली लाभदायक होती है।


उच्च रक्तचाप को शांतकरने में मूली मदद करती है।


पेट संबंधी रोगों में यदि मूली के रस में अदरक का रस और नीबू मिलाकर नियम से पीया जाये, तो भूख बढ़ती है और विशेष लाभ होता है |




Source code : amazon kindle

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां